Main Menu

DSC में दिल्ली के लोगों को 80 फीसदी आरक्षण

DSC में दिल्ली के लोगों को 80 फीसदी आरक्षण

दिल्ली । गुरु तेगबहादुर अस्पताल के दिल्ली राज्य कैसर संस्थान  में सुविधाओं को लेकर आप सरकार ने एक अहम फैसला लिया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को 24 बेड के एक सेमी-प्राइवेट वार्ड के उद्घाटन के दौरान एलान किया कि संस्थान में अब दिल्ली के मरीजों के लिए 40 फीसदी से बढ़ाकर 80 फीसदी सुविधाएं आरक्षित होंगी । साथ ही उन्होंने कहा कि अस्पताल के लिए 6.4 एकड़ अतिरिक्त जमीन भी स्वीकृत की जाएगी। 

दिल्ली राज्य कैंसर संस्थान के नए 24 बेड के सेमी-प्राइवेट वार्ड के उद्घाटन के दौरान केजरीवाल के साथ दिल्ली के समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन भी मौजूद थे। केजरीवाल ने कहा कि संस्थान में 80 फीसदी सुविधाओं के आरक्षण के अलावा 1000 अतिरिक्त बेड की व्यवस्था कराने के लिए सरकार 6.5 एकड़ जमीन भी मुहैया कराएगी। इस दौरान उन्होंने बेहतर सुविधाओं के लिए अस्पताल प्रशासन की तारीफ भी की। साथ ही संस्थान के अतिरिक्त उपकरण खरीदने के लंबित प्रस्तावों को सरकार दस दिन में हरी झंडी देने का भरोसा भी दिया। केजरीवाल ने बताया कि कैंसर संस्थान की जनरल काउंसिल का पुनर्गठन स्वास्थ्य मंत्री की अध्यक्षता में होगा। काउंसिल लंबित मामलों को प्राथमिकता के आधार पर निपटाएगी।

हमें लिखें

यदि आप कोई सूचना, लेख, ऑडियो-वीडियो या प्रश्न हम तक पहुंचाना चाहते हैं तो हमें भेजें।

सहायता करें


आज जिस तरह मीडिया कारपोरेट ढर्रे पर चल रही है, इसी ने हमें यह संकल्प लेने पर मजबूर किया कि हमें चुपचाप मौजूदा मीडिया के रास्ते पर नहीं चलना है, बल्कि देश के उन करोड़ों लोगों के अधिकारों की आवाज बनना है, जो इस लोकतांत्रिक देश में हर रोज अपने अधिकारों को पाने के लिए पुलिस, अधिकारी और नेता की मनमानी का शिकार बन रहे हैं, लेकिन उनकी सुनने वाला कोई नहीं है। इसीलिए अधिकार एक्सप्रेस में हमने लोकसेवा अधिकारों की जानकारी देने और संबधित घटनाओं को लोगों तक पहुंचाने की शुरुआत की।

हमारा ऐसा मानना है कि यदि लोकसेवा अधिकारों को बचाए रखना है तो ऐसी पत्रकारिता को आर्थिक स्वतंत्रता देनी ही होगी। इसके लिए कारपोरेट घरानों और नेताओं की बजाय आम जनता को इसमें भागीदार बनना होगा। जो लोग भ्रष्टाचार मुक्त सच्ची पत्रकारिता को बचाए रखना चाहते हैं, वे सामने आएं और अधिकार एक्सप्रेस को चलाने में मदद करें। एक संस्थान के रूप में ‘अधिकार एक्सप्रेस’ लोकहित और लोकतांत्रिक मूल्यों के अनुसार चलने के लिए प्रतिबद्ध है। हमारा आपसे निवेदन है कि आप हमें पढ़ें और इस जानकारी को जन-जन तक पहुंचाएं, शेयर करें, और बेहतर करने का सुझाव दें।            (अधिकार एक्सप्रेस आपका, आपके लिए और आपके सहयोग से चलने वाला पत्रकारिता संस्थान है)