आपका अधिकार

Diyaa



Diyaa
अगर आपके आस-पास अधिकार के लिए कोई अच्छा काम कर रहा है या फिर अधिकार का उल्लंघन कर रहा है, जिसे आप लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं, तो आप अपनी रिपोर्ट- info.adhikarexpress@gmail.com पर हमें भेजें |

बैंक सेवाओं का अधिकार



  • पहला खाता खोलते समय बैंक को अपना फोटो भी देना होगा ।
  • बैंक आपसे आयकर के पैन नंबर का विवरण भी मांग सकता है ।

निम्नलिखित बातों का रखें ध्यान

  • अगर आपके पास अपनी तुरंत जरुरत के अलावा बड़ी रकम है तो इसे बैंक के मामूली ब्याज के खातों में पड़े न रहने दें, किसी अच्छी निवेश-योजना में लगाएं।
  • परिपक्वता से पहले मियादी खाते की रकम निकालने पर खाते की निर्धारित ब्याज दर से कम ब्याज मिलता है ।
  • इसलिए पूरी जमा राशि की एक ही मियादी जमा रसीद लेने की बजाय छोट-छोटी रकमों के मियादी खाते रखें।
  • अगर आपको बैंक से नियमित रुप से कई बार लेनदेन करना पड़ता हो और आपकी अच्छी आमदनी है तो आप एफडीआर के आधार पर ओवरड्रॉफ्ट खोल सकते हैं ।
  • ओवरड्रॉफ्ट का मतलब है कि बैंक आपके खाते में जमा रकम से ज्यादा पैसे आपको दे सकता है।
  • ओवरड्रॉफ्ट खाता होने की स्थिति में बैंक, आपके खाते में जमा रकम से ज्यादा निकाली गयी रकम पर , आपसे दैनिक आधार पर ब्याज लेगा, लेकिन आपके एफडीआर पर आपको मियादी खाते की दर से ब्याज मिलता रहेगा ।
  • जब तक किसी जमा राशि को आपकी पास बुक/स्टेटमेंट में दर्ज नहीं कर लिया जाता है , उसकी रसीद संभालकर रखें।
  • पास बुक खो जाय तो बैंक को तुरंत सूचित करें और दूसरे पास बुक के लिए आवेदन करें।
  • आवर्ती खाते की पास बुक और एफडीआर को अच्छी तरह संभालकर रखें।
  • आवर्ती/मियादी जमा खातों का निर्धारित तिथियों पर नवीकरण कराते रहें। अन्यथा हो सकता है कि खाता परिपक्व होने पर आपको समुचित ब्याज न मिले।
  • आप एक ही बैंक शाखा में रकम एक से दूसरे खाते में डाल सकते हैं और मात्र पत्र लिखकर अथवा बैंक की डेबिट स्लिप भरकर उस शाखा से ड्रॉफ्ट/ट्रैवलर्स चेक/ गिफ्ट चेक जारी करवा सकते हैं ।
  • आप हर महीने एक निश्चित रकम अपने एक खाते से दूसरे खाते में डालते रहने के लिए बैंक को स्थायी निर्देश दे सकते हैं ।
  • आप डाक से भी बैंक में रकम (नकद/चेक/ड्रॉफ्ट) जमा करवा सकते हैं ।
  • आप अपने बचत खाते से रकम डाक के जरिए निकाल सकते हैं। अपनी पास बुक के साथ पैसा निकालने का आवेदन पत्र बैंक को भेज सकते हैं ।
  • संयुक्त खाता किसी भरोसेमंद व्यक्ति के साथ ही खोलना चाहिए। संयुक्त खातेदार को पूरी रकम निकालने या अन्य लेनदेन का अधिकार होगा।
  • सभी जमा खातों के लिए किसी व्यक्ति का नामांकन करना अच्छा है , व्यक्ति की मौत के बाद नामांकित व्यक्ति ही उस खाते से लेनदेन का हकदार हो सकता है ।
  • खाताधारी की मृत्यु के बाद , जब तक उसके उत्तराधिकार का दावा कानूनी रुप से निर्धारित नहीं हो जाता , बैंक उसके खाते से किसी को रकम नहीं निकालने देता है ।

ऋण के लिए खाते

व्यापार तथा औद्योगिक कार्यों के लिए बैंक ऋम देते हैं ।

और अधिक पढ़ें  >>>

अधिकार के हीरो

जनमत

फोटो गैलरी

वीडियो

अन्य