आपका अधिकार

Diyaa



Diyaa
अगर आपके आस-पास अधिकार के लिए कोई अच्छा काम कर रहा है या फिर अधिकार का उल्लंघन कर रहा है, जिसे आप लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं, तो आप अपनी रिपोर्ट- info.adhikarexpress@gmail.com पर हमें भेजें |

सभी नागरिकों को आधार कार्ड का अधिकार



आधार कार्ड क्या है? 

यह भारत सरकार द्वारा हर नागरिक को जारी किया जाने वाला एक ऐसा आई कार्ड है। जिस पर 12 अंकों का उस नागरिक का एक यूनिक नंबर लिखा होता है। इसमें कार्ड धारक का नाम, पता, उम्र, जन्म दिनांक, बैंक की जानकारी, पैन नंबर की जानकारी के साथ ही उंगलियों की निशानी, फोटो औऱ आंखों की स्कैनिंग भी की जाती है।जिसकी वजह से यह कार्ड एक खास पहचान पत्र बन जाता है। यह कार्ड एक ही बार बनता है। आधार कार्ड को बनवाने लिए साल भर में आप कभी भी समय आवेदन दे सकते हैं। किसी भी कामजिसमें पहचान की जरूरत होती हैइस कार्ड का इस्तेमाल किया जा सकता है। पहले आपको नाम उम्र और पते के लिए अलग अलग प्रमाणपत्र देना होता था, लेकिन आधार कार्ड के आने से यह एक हि पत्र आप सभी कार्यों में लगा सकतें है। 

आधार कार्ड के एनरोलमेंट सेंटर-

आधार कार्ड के एनरोलमेंट सेंटर को जानने के लिए नीचे लिखे लिंक पर जाएं। और State, Disrict/City, Locaility/Area, भरने के बाद Search पर क्लिक करें। क्लिक करने पर आपका चुना हुआ सेंटर खुल जाएगा।

https://appointments.uidai.gov.in/easearch.aspx

ऑफलाइन आधार कार्ड प्राप्‍त करने की प्रक्रिया- 

  • कोई भी नागरिक भारत में कहीं से भी आधार कार्ड के लिये आवेदन कर सकता है। यह जरुरी नहीं है कि आप अपने गृह जनपद से ही आवेदन करें। इसका पंजीकरण एकदम नि:शुल्‍क है। कोई भी व्यक्ति एक बार कार्ड मिलने के बाद दोबारा आवेदन नहीं कर सकताक्‍योंकि एक व्‍यक्ति को एक ही बार यह कार्ड जारी होता है। बच्चों का भी आधार कार्ड बन सकता है।
  • आप जब भी पंजीकरण केंद्र पर जाएं अपने साथ मान्‍यता प्राप्‍त पता और पहचान पत्र लेकर जायें। पते के प्रमाण के लिए वोटर आईडी कार्डराशन कार्डपासपोर्टड्राईविंग लाईसेंस, पानीबिजलीटेलीफोन के बिजली के बिल लगा सकते हैं। यदि आपके पास इनमें से कुछ नहीं हैतो आप सांसदविधायकग्राम पंचायत या किसी गैजेटेड अधिकारी द्वारा सत्‍यापित अपने पते का प्रमाण पत्र जमा कर सकते हैं। वहीं फोटो प्रमाण के लिए के लिये पैन कार्ड या सरकारी आईडी कार्ड लगा सकते हैं।
  • अगर आपके पर मान्‍य दस्तावेज नहीं हैं तो आपको अपने परिवार के उस सदस्‍य के प्रमाण पत्र लगाने होंगे,जिसके पास उक्‍त प्रमाणपत्र होंगे। अगर परिवार के मुखिया के पास सभी जरूरी प्रमाण पत्र हैंतो वह यूआईडीएआई में अपने संबंध दिखाते हुए प्रमाण पत्र जमा कर सकता है।
  • अगर प्रमाण पत्र नहीं हैंतो आप बिना एड्रेस प्रूफ के भी आधार कार्ड बनवा सकते हैं। नियम के मुताबिक आधार कार्ड बनवाने के लिए आपका कोई भी परिचित जिम्मेदारी लेकर फिंगर प्रिंट से वेरीफिकेशन कर सकता है। इसके लिए उसका अपना आधार कार्ड होना जरूरी है।
  • रजिस्ट्रेशन फॉर्म ऑनलाइन भरा जाता है। और भरने के बाद उसे देख सकते हैं और जरूरत पड़ने पर ठीक भी कर सकते हैं। पंजीकरण केंद्र पर आधार फॉर्म सावधानी से भरें। केंद्र पर आपकी फोटो खींची जायेगी,आपकी उंगलियों के निशान लिये जायेंगे और आंखों की पुतलियों के इंप्रेशन भी लिये जायेंगे। 
  • आप रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरते वक्त या उसके बाद भी अपने बैंक का अकाउंट लिंक करा सकते हैं। इसके लिए आपको मैनुअल या ऑनलाइन एंट्री करानी होगी। बैंक अकाउंट लिंक कराने से सरकारी स्कीम की रकम सीधे आपके अकाउंट में आने लगेगी। अगर आप सरकारी योजनाओं की कैटिगरी में नहीं आते या सरकार के साथ बिजनेस करते हैं और आपकी राशि सरकारी एजेंसी पर बकाया है तो आपके अकाउंट में सीधा पैसा आ जाएगा। रजिस्ट्रेशन फॉर्म पर बस आपको अपना अकाउंट नंबर लिखना हैलिंक करने का काम अथॉरिटी करेगा।
और अधिक पढ़ें  >>>

अधिकार के हीरो

जनमत

फोटो गैलरी

वीडियो

अन्य