आपका अधिकार

Diyaa



Diyaa
अगर आपके आस-पास अधिकार के लिए कोई अच्छा काम कर रहा है या फिर अधिकार का उल्लंघन कर रहा है, जिसे आप लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं, तो आप अपनी रिपोर्ट- info.adhikarexpress@gmail.com पर हमें भेजें |

संपत्ति का अधिकार



संपत्ति के प्रकार

  1. स्थावर संपत्ति- मकान जमीन आदि स्थावर संपत्तियाँ हैं। घर, जमीन आदि जिसके नाम पंजीकृत हैं, वह उसके स्वामित्व में होती हैं। 
  2. चल संपत्ति- रुपया, जेवर, गाड़ी, बैक बैलेंस आदि चल संपत्तियाँ हैं। चल संपत्तियाँ जिसके कब्जे में होती हैं, वह उसी के स्वामित्व में होती हैं।
  • पिता की संपत्ति पिता की है और माता की संपत्ति माता की है।

पॉवर ऑफ अटॉर्नी (मुख्तारनामा) 

  • पावर ऑफ अटॉर्नी प्रॉपर्टी का असली मालिक एक हजार रुपए के स्टांप पर मालिकाना हक अन्य व्यक्ति को सौंपने की सहमति देता है। जिस व्यक्ति के नाम पावर दिया जाता है, वह इसी आधार पर किसी अन्य व्यक्ति को प्रॉपर्टी बेच सकता है।

  • ' पावर ऑफ अटॉर्नी एक्ट 1882' के अनुसार, पीओए ऐसा कानूनी दस्तावेज है, जिसके जरिए कोई व्यक्ति दूसरे शख्स को अपना कानूनी प्रतिनिधि घोषित करता है। घोषित प्रतिनिधि को 'एजेंट' और घोषित करने वाले को 'प्रिंसिपल' कहा जाता है।
  • एजेंट प्रिंसिपल के बदले उसके सभी कानूनी, फाइनैंशियल और दूसरे मामलों में फैसले ले सकता है। वह प्रिंसिपल के बदले कोई डीड भी साइन कर सकता है। ये फैसले कानूनी रूप से मान्य होंगे। एजेंट का पेशे से वकील होना जरूरी नहीं है। हालांकि एजेंट पीओए के दायरे से बाहर नहीं जा सकता। उसके फैसले से प्रिंसिपल को नुकसान होता है, तो एजेंट को हर्जाना देना होगा।
  • ' पावर ऑफ अटॉर्नी' किसी अचल संपत्ति के मालिकाना हक को ट्रांसफर करने के लिए तैयार की जा सकती है। रजिस्ट्री के बदले पीओए का इस्तेमाल आमतौर पर उन हालात में किया जाता है, जब प्रॉपर्टी का मालिक बीमारी या दूसरी वजहों से कोर्ट जाने की प्रक्रिया से बचना चाहता हो या अहम फैसले लेने में सक्षम न हो, लेकिन मानसिक रूप से स्वस्थ हो।

काम के उद्देश्यों के आधार पर दो प्रकार की पॉवर ऑफ अटॉर्नी

  1. पहली, जनरल पावर ऑफ अटॉर्नी यानी जीपीए
  2. दूसरी, स्पेशल पावर ऑफ अटॉर्नी यानी एसपीए
  • किसी एक काम के लिए दी जाने वाली पावर ऑफ अटॉर्नी 'एसपीए' कहलाती है जैसे- कोई डील फाइनल करनाजीपीए के जरिए एजेंट कई कामों में फैसले ले सकता है। जीपीए होल्डर प्रॉपर्टी मॉगेर्ज, सेल-परचेज, कॉन्ट्रैक्ट्स, लीज, सेटलमेंट जैसे तमाम कामों को अंजाम दे सकता है। 
  • स्पेशल पॉवर ऑफ अटॉर्नी विशेष कार्यों के लिए की जाती है। जिसमें विक्रय पत्र निष्पादित करनेक्रेता को धनराशि भुगतान करने और घर का कब्जा प्राप्त करनेघर का रखरखाव करनेटैक्स आदि का भुगतान करनेनगर-निगम आदि में घर को आप के नाम दर्ज करानेघर में आप के नाम से नलबिजलीगैसटेलीफोन आदि के कनेक्शन लेने आदि कार्य शामिल हैं।
और अधिक पढ़ें  >>>

अधिकार के हीरो

जनमत

फोटो गैलरी

वीडियो

अन्य