आपका अधिकार

Diyaa



Diyaa
अगर आपके आस-पास अधिकार के लिए कोई अच्छा काम कर रहा है या फिर अधिकार का उल्लंघन कर रहा है, जिसे आप लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं, तो आप अपनी रिपोर्ट- info.adhikarexpress@gmail.com पर हमें भेजें |

बौद्धिक संपदा का अधिकार



बौद्धिक संपदा अधिकार क्या है?

जिस व्यक्ति ने अपनी बुद्धि से जिस विशिष्ट वस्तु, पदार्थ एवं तत्व का सृजन किया है, वह उस बौद्धिक संपदा का अधिकारी है और उसके प्रति उसी का अधिकार है। इससे स्पष्ट है कि बौद्धिक संपदा के सर्जन के अधिकार को बौद्धिक संपदा का अधिकार कहते हैं। बौद्धिक संपदा के अधिकार की स्थापना एक ओर बौद्धिक संपदा के मालिक या प्राधिकृत अधिकारी को उसका स्वतंत्र प्रयोग/उपयोग करने की स्वतंत्रता एवं अधिकार प्रदान करती है और दूसरी ओर अनाधिकृत व्यक्तियों द्वारा उसके प्रयोग/उपयोग करने पर अंकुश लगाती है।

बौद्धिक संपदा अधिकार का वर्गीकरण-

  1. कॉपी राइट
  2. पेटेंट राइट
  3. व्यापार चिन्ह अधिकार
  4. सेवा चिन्ह अधिकार
  5. डिजाइन राइट
  6. भौगोलिक सांकेतिक अधिकार

कॉपीराइट या प्रतिलिप्याधिकार

किसी लेखक , चित्रकार अथवा अन्य किसी प्रकार की बौद्धिक रचना तैयार करने वाले बुद्धिजीवी या कलाकार का अपनी रचना पर अधिकार है । कॉपीराइट किसी व्यक्ति की रचना को अनाधिकृत रुप से प्रकाशित किए जाने या अन्य किसी रुप में प्रस्तुत किए जाने पर रोक लगाता है ।

कॉपीराइट की श्रेणियां

  1. कॉपीराइट का अधिकार- साहित्यिक और कलात्मक कार्य के लेखक को दिया गया अधिकार औऱ फोनोग्राम तथा प्रसारण संगठन के परफर्मॉर, प्रोड्यूसर का अधिकार।
  2. औद्योगिक संपदा अधिकार-विशिष्ट चिन्ह(जैसे ट्रेडमार्क),नई पहल, डिजाइन तथा प्रौद्योगिकी उत्प्रेरित करने के लिए संरक्षित औद्योगिक संपदा ।

निम्न प्रकार की कृतियों पर कॉपीराइट

  1. मौलिक साहित्यिक , रंगमंचीय अथवा कलात्मक कृति पर कॉपीराइट
  2. फिल्म पर कॉपीराइट
  3. कंप्यूटर प्रोग्राम पर कॉपीराइट
  4. गीत-संगीत तथा अन्य रिकार्ड पर कॉपीराइट

कॉपीराइट अधिनियम , 1957 के मुताबिक कॉपीराइट

  • कृति के रचनाकार का कविता, फोटोग्राफ, पेंटिंग आदि पर कॉपीराइट होगा।
  • अगर किसी पत्र-पत्रिका में रोजगार के दौरान कृति रची गयी है तो पत्र-पत्रिका के प्रकाशक को अपनी किसी पत्र-पत्रिका में रचना प्रकाशित करवाने का अधिकार है । शेष सभी अधिकार लेखक के होंगे ।
  • अगर कोई फोटोग्राफ /पेंटिंग/नक्काशी/ किसी व्यक्ति के भुगतान पर बनाई गयी हो तो भुगतान करने वाले को कॉपीराइट प्राप्त होगा।
  • सरकार के अंतर्गत किए गये किसी रचनात्मक कार्य का कॉपीराइट सरकार का होगा । अगर कृति किसी सार्वजनिक क्षेत्र के संस्थान ने बनाई या प्रकाशित की हो या किसी सरकारी प्रतिष्ठान के निर्देश पर तैयार की गयी है, तो कॉपीराइट उस संस्थान का माना जायेगा। 
और अधिक पढ़ें  >>>

अधिकार के हीरो

जनमत

फोटो गैलरी

वीडियो

अन्य