आपका अधिकार

Diyaa



Diyaa
अगर आपके आस-पास अधिकार के लिए कोई अच्छा काम कर रहा है या फिर अधिकार का उल्लंघन कर रहा है, जिसे आप लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं, तो आप अपनी रिपोर्ट- info.adhikarexpress@gmail.com पर हमें भेजें |

राशन कार्ड का अधिकार



महिला मुखिया के नाम पर बनेंगे राशनकार्ड

  • खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत 64.43 प्रतिशत शहरी और 79.63 फीसदी ग्रामीणों के राशनकार्ड बनाए जाएंगे। इसमें महिला मुखिया के नाम से ही कार्ड बनेंगे। यदि परिवार में 18 वर्ष से कम आयु की कोई महिला है तो उसके बालिग होने तक वरिष्ठ पुरुष सदस्य के नाम से राशनकार्ड जारी किया जाएगा। जैसे ही महिला 18 साल की होगी वैसे ही पुरुष सदस्य के स्थान पर उसे ही गृहस्थी की मुखिया मानकर राशनकार्ड बना दिया जाएगा।

राशन कार्ड में नाम कैसे जुड़वाएं 

  • पात्र गृहस्थ और अंत्योदय कार्ड के मानकों का अध्ययन कर सुनिश्चित कर लें कि आप किस श्रेणी में आते हैं
  • यदि पात्रता के बावजूद आपका नाम शामिल नहीं है तो सर्वे टीम से सम्पर्क करें
  • खंड विकास अधिकारी या जिलापूर्ति कार्यालय पर भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं
  • ऑनलाइन www.fcs.up.nic.in पर आवेदन भी कर सकते हैं

राशन कार्ड में इन्हें प्राथमिकता मिलेगी 

  • घरेलू कामकाज करने वालों
  • फेरी वालों
  • अनाथ बच्चों
  • स्वच्छकार
  • दैनिक वेतन भोगी, मजदूर, कुली, पल्लेदार
  • भूमिहीन मजदूरों के परिवार
  • गरीबी रेखा से नीचे के परिवार
  • परित्यक्त महिलाएं
  • ऐसे परिवार जिनमें मुखिया निराश्रित महिला, विकलांग या मानसिक रूप से विक्षिप्त व्यक्ति हो और उस परिवार में कोई अन्य बालिग पुरुष न हो
  • आवासहीन परिवार या ऐसे परिवार जिनके स्वामित्व में 30 वर्ग मीटर क्षेत्रफल तक के ऐसे कच्चे आवास हों जो उनकी निजी भूमि पर हों और जिनमें वे स्वयं निवास करते हों

अंत्योदय कार्ड का आधार 

  • उत्तर प्रदेश के शहरी क्षेत्र में 24,500 और ग्रामीण क्षेत्र में 19,500 रुपए वार्षिक से कम आमदनी वाले परिवार अंत्योदय की श्रेणी में आते हैं। 

राशन कार्ड से बाहर होंगे  

  • सभी आयकरदाता
  • चार पहिया वाहन, ट्रैक्टर, हारवेस्टर, एयर कंडिशनर, 5 केवीए अथवा अधिक क्षमता का जेनरेटर रखने वाले परिवार
  • जिसके पास 100 वर्ग मीटर से अधिक का स्वअर्जित आवासीय प्लॉट या उस पर बना मकान हो
और अधिक पढ़ें  >>>

अधिकार के हीरो

जनमत

फोटो गैलरी

वीडियो

अन्य