आपका अधिकार

Diyaa



Diyaa
अगर आपके आस-पास अधिकार के लिए कोई अच्छा काम कर रहा है या फिर अधिकार का उल्लंघन कर रहा है, जिसे आप लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं, तो आप अपनी रिपोर्ट- info.adhikarexpress@gmail.com पर हमें भेजें |

मानकीकरण और गुणवत्ता का अधिकार



भारतीय मानक ब्यूरो, भारत में राष्ट्रीय मानक निर्धारित करने वाली संस्था है।  यह उपभोक्ता मामलों , खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय के अधीन कार्य करती है ।

गुणवत्ता की पहचान के लिए ISI निशान

  • इस निशान से पता चलता है कि भारतीय मानक ब्यूरो ने वस्तु को मान्य गुणवत्ता का होने का प्रमाणपत्र दे दिया है ।

भारतीय मानक ब्यूरो से शिकायत

  • आईएसआई के निशान वाली वस्तुओं की गुणवत्ता के बारे मे शिकायत के लिए देशभर में कई शाखाएं हैं।
  • अपनी शिकायत में सभी ब्यौरे दें जैसे... वस्तु खरीदने की तिथि और स्थान, वस्तु में कमी का विवरण, नगद खरीद की पर्ची संख्या आदि ...
  • भारतीय मानक ब्यूरो के नजदीकी शाखा के जन शिकायत अधिकारी अथवा इस कार्यालय के मुख्यालय में निदेशक, उपभोक्ता मामले और जन शिकायत अधिकारी को शिकायत भेजी जा सकती है ।
  • भारतीय मानक ब्यूरो ऐसी हर शिकायत की जांच कर सकता है ।
  • अगर शिकायत सही पायी जाती है तो उपभोक्ता द्वारा खरीदी गयी चीज बिना कोई पैसा लिए बदल दी जाती है या उसकी खराबी ठीक कर दी जाती है ।
  • अगर यह पता चलता है कि किसी वस्तु का निर्माता जानबूझकर घटिया माल तैयार कर रहा है तो उसका लाइसेंस रद्द किया जा सकता है और उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी की जा सकती है ।
  • केंद्र सरकार ने सौ से ज्यादा वस्तुओं के लिए भारतीय मानक ब्यूरो का प्रमाणपत्र लेना अनिवार्य कर दिया है ।
  • इस सूची में शामिल है ... दूध का पावडर, सीमेंट, रसोई गैस का सिलेंडर, वनस्पति , बिजली का प्रेस, खाना बनाने वाला बिजली का हीटर, पानी गरम करने वाला इमर्शन रॉड, खाद्य पदार्थों में मिलाए जाने वाले रंग-फ्लेवर आदि।

कृषि पदार्थों की गुणवत्ता की पहचान के लिए एगमार्क

  • कृषि-जन्य पदार्थों की गुणवत्ता के प्रमाणीकरम के लिए एगमार्क का निशान बनाया गया है ।
  • इस निशान से पता चलता है कि वस्तु की गुणवत्ता की सरकार द्वारा प्रायोजित किसी संस्था ने जांच कर ली है और खाद्य पदार्थों की पैकिंग के लिए सुरक्षित सामग्री से इसे पैक किया गया है ।
  • एगमार्क के निशान वाली वस्तु अगर खराब निकले तो बिना कोई पैसा लिए इसे बदल दिया जाता है अथवा कीमत लौटा दी जाती है ।
  • आटा , दाल , घी , मसाले और खाद्य तेल जैसी कृषि-जन्य और कच्ची खाद्य सामग्री खरीदते समय एगमार्क का निशान होने की जांच कर लें।

पर्यावरण को नुकसान से बचाव के लिए ईको मार्क

  • ईको मार्क निशान यह बताता है कि वस्तु से पर्यावरण को नुकसान नहीं होगा ।

 

और अधिक पढ़ें  >>>

अधिकार के हीरो

जनमत

फोटो गैलरी

वीडियो

अन्य