आपका अधिकार

Diyaa



Diyaa
अगर आपके आस-पास अधिकार के लिए कोई अच्छा काम कर रहा है या फिर अधिकार का उल्लंघन कर रहा है, जिसे आप लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं, तो आप अपनी रिपोर्ट- info.adhikarexpress@gmail.com पर हमें भेजें |

सिंचाई घोटाले में एफए कंस्ट्रक्शन कंपनी को राहत

Mar 06, 2016

नागपुर (महाराष्ट्र)। मुंबई हाईकोर्ट की नागपुर खंडपीठ ने राज्य के सिंचाई घोटाले के आरोपी ठेकेदार एफए कंस्ट्रक्शन कंपनी के खिलाफ अगले आदेश तक कोई ठोस कार्रवाई न करने का निर्देश दिया है। और साथ ही कंपनी को मामले की जांच में सहयोग का भी आदेश दिया है। दरअसल घोड़ाझरी नहर निर्माण में भ्रष्टाचार के मामले में भ्रष्टाचार निरोधक विभाग ने सदर पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज की है। इस एफआईआर को रद्द करवाने के लिए कपंनी ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। जिसकी सुनवाई के बाद शुक्रवार को न्यायमूर्ति भूषण गवई और प्रदीप देशमुख की खंडपीठ ने ये फैसला सुनाया। याचिकाकर्ता की तरफ से एड शशांक मनोहर, श्याम देवानी और सरकार की और से महाधिवक्ता रोहित देव ने अपना पक्ष हाईकोर्ट के सामने रखा था। 

आपको बता दें कि एफए कंस्ट्रक्शन कंपनी पर आरोप है कि उसने घोड़ाझरी नहर के निर्माण में जानबूझकर लापरवाही बरती, जिसका फायदा उठाकर जल संपदा विभाग के सेवानिवृत्त अभियंता और ठेकेदार समेत सात लोगों ने करोड़ों का भ्रष्टाचार किया। इसी भ्रष्टाचार के आरोप में भ्रष्टाचार निरोधक शाखा ने सातों के खिलाफ पुलिस थाने में एफआईआर करवाई है। इन सात आरोपियों में एफए कंस्ट्रक्शन कंपनी का संचालक फतेह मोहम्मद अब्दुल खत्री, निसार फतेह खत्री, जैतून फतेह मोहम्मद खत्री और जाहित फतेह खत्री, जल संपदा विभाग के सेवानिवृत्त अभियंता सोपान रामरवा सूर्यंवंश, सेवानिवृत्त कार्यकारी अभियंता रमेश दौलतराव वर्धने का नाम शामिल है।   

अधिकार के हीरो

जनमत

फोटो गैलरी

वीडियो

अन्य