आपका अधिकार

Diyaa



Diyaa
अगर आपके आस-पास अधिकार के लिए कोई अच्छा काम कर रहा है या फिर अधिकार का उल्लंघन कर रहा है, जिसे आप लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं, तो आप अपनी रिपोर्ट- info.adhikarexpress@gmail.com पर हमें भेजें |

पुलिस ने 12 साल से नहीं दर्ज किया एफआईआर !

Mar 03, 2016

मध्य प्रदेश के भोपाल जिले में पिपलानी थाना के कर्मचारी ऐसी कोई शिकायत पर कार्यवाही नहीं करते जब तक उनको पैसे नहीं मिलते । मेरे द्वारा २००५ से सबूतों के साथ रिपोर्ट की गयी, लेकिन आजतक पिपलानी ठाणे वालों ने एफ आई आर नहीं लिखी और तो और मेरे पड़ोस में रहने वाले व्यापक काण्ड के दोषी रमेश चंडगुडे और उसकी बीवी नेत्र देशमुख मेरे घर घुसकर मेरी माँ को पीटा और मुझे भी गाली गलौच किया। मैंने dial 100 से पुलिस बुलाया, लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की। मेरे बहस करने पर मुझे डराया धमकाया और कहा कि ठाणे आओेगे तो अंदर कर दूंगा, ऐसा वह का एस आई वीरेंद्र अहीरवाल ने कहा, जिसका रिकॉर्डिंग मेरे पास है। इस थाने में कुछ लोग बिना पैसे के कोई रात नहीं लिखते बल्कि इसमें एस एच ओ के बिना मिलीभगत के मुमकिन नहीं है। आप ही बतायें पड़ोसी के खिलाफ मैंने इस ठाणे में और पुलिस महानिदेशक सुरेन्द सिंह को भी लिखित पत्र दिया। आई जी भोपाल को भी लिखा, लेकिन पुलिस ने उस पर कोई कार्यवाही नहीं की और जब रमेश चंडगुडे को ३१ दिसम्बर की रात को घर से पुलिस ने मार-मार कर ठाणे में ले गए और अगले दिन छोड़ दिया था, क्योकि ३१ की रात ये घर के बहार शराब पीकर हुड़दंग कर रहा था । मेरी गवाही भी है इसमें, फिर इसके बाद इस रमेश ने मोहल्ले के कुछ लोगों की साइन करके मेरे ऊपर झूठे- झूठे आरोप लिखकर शिकायत की। जिस पर पुलिस पिपलानी ने मेरे ऊपर झूठा १०७ / ११६ का केस कर दिया । मैंने एस डी एम के समक्ष समय माँगा है। जवाब देने के लिए कृपया ऐसे पुलिस वालों के खिलाफ आवाज उठायें। इससे मैं काफी परेशान हूं । मैं एक रिसर्च स्कॉलर हूं। एन आई टी में स्कॉलर हूं। विकल एडहॉक नेटवर्क पर रिसर्च कर रहा हूं। भोपाल पुलिस ने इस पति पत्नी को व्यापम काण्ड में अरेस्ट नहीं किया, बाकी इनके साथ के सभी लोगों को जेल भेज दिया है। 

PRAKASH JUGNAKE 

 

Bhopal

अधिकार के हीरो

जनमत

फोटो गैलरी

वीडियो

अन्य