Main Menu

उत्तर प्रदेश में NOC कैसे प्राप्त करें

Watch the video

उत्तर प्रदेश में NOC कैसे प्राप्त करें

उत्तर प्रदेश में फायर ब्रिगेड की NOC कैसे प्राप्त करें

अधिकार एक्सप्रेस के इस नए वीडियो में आपका स्वागत है। आज हम इस वीडियो में आपको बताएँगे कि किस तरह आप उत्तर प्रदेश में बहुमंजिले भवन, उद्योग, स्कूल, कालेज, विश्वविद्यालय, नर्सिंग होम और हास्पिटल जैसे भवनों की अग्नि सुरक्षा के लिए कैसे  अनापत्ति प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकते हैं। 

  1. इसके लिए सबसे पहले आप उत्तर प्रदेश अग्निशमन सेवा की वेबसाइट www.upfireservice.gov.in पर लाग इन करें।
  2. जब वेबसाइट का होम पेज खुल जाए तो आप NOC मीनू पर क्लिक करें।
  3. NOC पर क्लिक करने पर एक प्रारुप प्रदर्शित होगा, जिसमें आपको आवेदक का नाम, पता, मोबाइल नंबर, फोन नंबर के साथ भवन के प्रकार रेजिडेंशियल, एजुकेशनल, एसेंबली इत्यादि के साथ NOC के आवेदन का प्रकार जैसे- प्रोविजनल, फाइनल, नवीनीकरण प्रदर्शित होगा। जिसमें आप अपनी आवश्यकतानुसार भवन के प्रकार के आधार पर प्रोविजनल, फाइनल, नवीनीकरण के प्रकार को सलेक्ट करने के बाद क्लिक करें।
  4. इसके बाद स्क्रीन पर एक स्लिप दिखाई देगी, जिसमें यूनिक आईडी, प्रार्थना पत्र सबमिट करने की तिथि एवं समय के साथ-साथ तीन कार्य दिवस में ही साइट प्लान, एलिवेशन प्लान इत्यादि के साथ संबंधित जनपद के प्रभारी मुख्य अग्निशमन अधिकारी के कार्यालय में, स्क्रीन पर प्रदर्शित स्लिप की प्रति के साथ मैनुअली जमा करना आवश्यक होगा। अगर आप ऐसा नहीं करेंगे तो प्राप्त स्लिप की वैधता समाप्त हो जाएगी और  आपको फिर से रिटर्निंग यूजर विंडो पर पुराने प्राप्त यूनिक आईडी नंबर का उल्लेख करते हुए आवेदन करना होगा।
  5. आपको आनलाइन आवेदन लाग इन करने की सूचना संबंधित जनपद के मुख्य अग्निशमन अधिकारी वेबसाइट www.upfireservice.gov.in को खोलकर अपने जनपद के कालम जाकर चेक करके प्राप्त हो कर लेगा।
  6. इसके बाद मुख्य अग्निशमन अधिकारी किसी भी प्रकार के किए गए प्रश्न की विस्तृत सूचना आपको उक्त वेबसाइट को खोलकर प्राप्त यूनिक आईडी नंबर के संदर्भ के साथ चेक करने पर उपलब्ध कराएगा। साथ ही साथ आपको अग्निशमन विभाग से किए गए प्रश्न की सूचना ई-मेल भी भेजेगा।
  7. आपके उचित दस्तावेज प्रस्तुत करने पर 15 दिवस के अंदर अनापत्ति प्रमाण पत्र की सूचना वेबसाइट www.upfireservice.gov.in/noc_issued_document.php पर उपलब्ध करा दी जायेगी। जिसे देखकर आप संबंधित जनपद के मुख्य अग्निशमन अधिकारी के कार्यालय से प्राप्त कर सकते हैं।   

हमें लिखें

यदि आप कोई सूचना, लेख, ऑडियो-वीडियो या प्रश्न हम तक पहुंचाना चाहते हैं तो हमें भेजें।

सहायता करें


आज जिस तरह मीडिया कारपोरेट ढर्रे पर चल रही है, इसी ने हमें यह संकल्प लेने पर मजबूर किया कि हमें चुपचाप मौजूदा मीडिया के रास्ते पर नहीं चलना है, बल्कि देश के उन करोड़ों लोगों के अधिकारों की आवाज बनना है, जो इस लोकतांत्रिक देश में हर रोज अपने अधिकारों को पाने के लिए पुलिस, अधिकारी और नेता की मनमानी का शिकार बन रहे हैं, लेकिन उनकी सुनने वाला कोई नहीं है। हालांकि जब हमने इसे शुरु किया तो हमारे सामने आर्थिक चुनौती खड़ी हो गयी, लेकिन हमने चुनौती को स्वीकार करते हुए थोड़े कम पैसों में ही एक कठिन रास्ते पर चलने की ठान ली और एक गैर-लाभकारी कंपनी बनाई। इंटरनेट का सहारा लिया और बिल्कुल अगल ही तरह का न्यूज पोर्टल बनाया। इसमें हमने अधिकारों की जानकारी देने के साथ ही अधिकारों से संबधित घटनाओं को लोगों तक पहुंचाने की शुरुआत की।

हमारा ऐसा मानना है कि यदि लोकसेवा अधिकारों को बचाए रखना है तो ऐसी पत्रकारिता को आर्थिक स्वतंत्रता देनी ही होगी। इसके लिए कारपोरेट घरानों और नेताओं की बजाय आम जनता को इसमें भागीदार बनना होगा। जो लोग भ्रष्टाचार मुक्त सच्ची पत्रकारिता को बचाए रखना चाहते हैं, वे सामने आएं और अधिकार एक्सप्रेस को चलाने में मदद करें। एक संस्थान के रूप में ‘अधिकार एक्सप्रेस’ लोकहित और लोकतांत्रिक मूल्यों के अनुसार चलने के लिए प्रतिबद्ध है। हमारा आपसे निवेदन है कि आप हमें पढ़ें और इस जानकारी को जन-जन तक पहुंचाएं, शेयर करें, और बेहतर करने का सुझाव दें।            (अधिकार एक्सप्रेस आपका, आपके लिए और आपके सहयोग से चलने वाला पत्रकारिता संस्थान है)